आसमान नीला क्यों दिखाई देता है? (Why Sky is Blue in Hindi)

हमारे ब्लॉग Hindi-English.net में आपका स्वागत है। आज हम “आपको पता है आसमान नीला क्यों दिखाई देता है? Aasman neela kyon dikhai deta hai? (Why Sky is Blue)” नामक एक बहुत ही रोचक विषय देखने जा रहे हैं। मुझे आशा है कि आपको यह लेख पढ़ने में मज़ा आया होगा और यह उपयोगी लगेगा

मैं आपको एक बात पक्के तौर पर बता दूं कि आपको यहां दी गई हिंदी जानकारी और कहीं नहीं मिलेगी। यदि आपके पास इस लेख के बारे में कोई प्रश्न है, तो निश्चित रूप से आप नीचे कमेन्ट कर सकते हैं और हमें बता सकते हैं। तो चलिए आपका अधिक समय बर्बाद किए बिना हमारे मुख्य प्रश्न के उत्तर की ओर बढ़ते हैं।

यह भी जरूर पढ़े- चिया बीज क्या है?- Chia Seeds in Hindi

क्या आपको पता है आसमान नीला क्यों दिखाई देता है? Aasman neela kyon dikhai deta hai? (Why Sky is Blue in Hindi)

आसमान का रंग नीला होने का कारण पृथ्वी का वायुमंडल है। आपको पता होगा की हमारा वायुमंडल अलग-अलग गैसों के मिश्रण से बना हुआ है। और इसके अलावा इसमें धूल के कण और अन्य सूक्ष्म पदार्थ भी शामिल होते हैं। आसमान का नीला दिखाई देने के पीछे सूर्य की किरणों का अहम योगदान होता है. जब सूर्य का प्रकाश वायुमंडल में प्रवेश करता है तो वह वायुमंडल में मौजूद कणों से टकराता है.

सूर्य के श्वेत प्रकाश में सात प्रकार के रंग होते है। इनमें हमारी आँखे सूर्य के प्रकाश में मौजूद 7 तरंगो को देख सकती है इन तरंगो में अलग अलग रंग होते हैं यदि सूर्य के तरंगो को एक प्रिज्म से होकर गुजारा जाए तो हमें इस प्रकार के रंग दिखते है जैसे की बैगनी, आसमानी, नीला, हरा, पीला, नारंगी और लाल.

why sky is blue- आसमान नीला क्यों दिखाई देता है
why sky is blue- आसमान नीला क्यों दिखाई देता है

जब सूर्य का प्रकाश वायुमंडल से होकर गुजरता है और वे वायुमंडल में मौजूद कणों से टकराता है। और फिर प्रकाश या तो इन कणों के आर पार हो जाता है या फिर इन कणों द्वारा परावर्तित कर हो जाता है। परावर्तित होने वाले रंगो में बैगनी, आसमानी और नीला ये रंग सबसे ज्यादा परावर्तित होता है क्योंकि इन रंगों की तरंग दैर्ध्य (वेवलेंथ) सबसे कम होती है। जबकि हरा, पीला, नारंगी तथा लाल की तरंग दैर्ध्य (वेवलेंथ) सबसे लम्बी होने के कारण ये कम परावर्तित होते हैं।

इसलिए सूर्य का लाल रंग परावर्तित हुए बिना ही धरती पर पहुँच जाता हैं। लेकिन नीला रंग वायुमंडल में उपस्थित गैसों के अणु,धूल के कण से ज्यादा परावर्तित होता है। और बहुत देर तक वायुमंडल में बना रहता है। इसी परावर्तित हुए नीले रंग के कारण आसमान हमें नीला का रंग दिखाई देता है।

तो अब आप जान गए होंगे कि आसमान का रंग नीला क्यों है वास्तव में आकाश का कोई रंग नहीं होता है यह सूर्य के प्रकाश के कारण हमें नीला दिखाई देता हैं।यदि इसे अन्तरिक्ष से देखा जाए तो यह काला दिखाई देता है.

यह भी जरूर पढ़े- 1000 विज्ञान के रोचक तथ्य (Amazing Science Facts In Hindi)

आसमान नीला क्यों होता है? सरल भाषा में समझें- (Aasman Neela Kyon Dikhai Deta Hai Saral Bhasha Me)

जैसे ही सूर्य का सफेद प्रकाश हमारे वायुमंडल से होकर गुजरता है, हवा के छोटे-छोटे अणु से बिखर जाता हैं।इन छोटे वायु अणुओं के कारण प्रकीर्णन बढ़ जाता है क्योंकि प्रकाश की तरंग दैर्ध्य कम हो जाती है। बैंगनी और नीले प्रकाश की तरंगदैर्घ्य सबसे कम होती है और लाल प्रकाश की तरंगदैर्घ्य सबसे लंबी होती है।

अत: लाल प्रकाश की अपेक्षा नीला प्रकाश अधिक प्रकीर्णित होता है और दिन में आकाश नीला दिखाई देता है।जब सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सूर्य आकाश में नीचा होता है, तो प्रकाश को पृथ्वी के वायुमंडल से आगे की यात्रा करनी पड़ती है।

हमें नीला प्रकाश दिखाई नहीं देता क्योंकि वह बिखर जाता है, लेकिन लाल प्रकाश बहुत अधिक नहीं बिखरती है – इसलिए संध्या के समय आकाश लाल दिखाई देता है।

यह भी जरूर पढ़े- RIP का हिंदी अर्थ- Rest in Peace Meaning in Hindi

FAQ

हमारी पृथ्वी अंततिक्ष से कैसी दिखती हैं ?

अंतरिक्ष से हमारी पृथ्वी नीले रंग की दिखती है, क्योंकि पृथ्वी का 70% भाग समुद्र से ढ़का हुआ है। और समुद्र नीली प्रकाश की किरणों को रिफ़्लेक्ट करता है। और जिसके कारण पृथ्वी को नीला ग्रह (Blue Planet) भी कहा जाता है।

आसमान का असली रंग क्या है?

आसमान का असली रंग कुछ भी नही है यह बिल्कुल नगन्य है। यह सूर्य के प्रकाश, धूल कण व वायुमंडल के कारण रंगीन हो जाता है।

इंद्रधनुष किसके कारण होता है?

इंद्रधनुष एक चाप है जो सभी रंगों को उनके विभिन्न तरंग दैर्ध्य के साथ दिखाता है, जो दृश्य प्रकाश बनाते हैं। सात रंग एक इंद्रधनुष बनाते हैं.

ओजोन परत पृथ्वी के लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

ओजोन परत पृथ्वी पर सभी जीवन के लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सभी जीवित चीजों को सूर्य के हानिकारक पराबैंगनी विकिरण के प्रभाव से बचाती है।

अंतरिक्ष यात्रियों को आकाश काला क्यों दिखाई देता है?

चंद्रमा व अंतरिक्ष से आकाश का रंग काला दिखाई देता है, ऐसा इसलिए क्योंकि वहां पर वायुमंडल का अभाव है जिससे सूर्य के प्रकाश का प्रकीर्णन न होने के कारण अंतरिक्ष से सभी स्थानों पर आकाश काला दिखाई देगा।

Disclaimer

हो सकता है की इस Article में हमारी टीम से जानकरी देने में या टाइपिंग करने में कोई गलती कियी हो. इसके लिए हम आपसे माफ़ी मांगते है और गुजारिश करते है की आप इस गलती के बरमे निचे कॉमेंट करके जरूर बताये, जिससे की हम जल्द ही उस पर सुधार कर सके. धनयवाद।

Summary

आशा करता हूँ की आपको “क्या आपको पता है आसमान नीला क्यों दिखाई देता है? Aasman neela kyon dikhai deta hai? (Why Sky is Blue)” आर्टिकल बहुत ही उपयोगी और मजेदार लगा होगा। ऐसी ही हिंदी में मजेदार जानकरी के लिए हमारे ब्लॉग www.hindi-english.net की मुलाकात लेते रहिये और हमें YouTube, Facebook और Instagram पे फोलो करना ना भूले।

Leave a Comment

hindi-english-logo-main

In this website you can find Useful Information, Dictionary, Essay, Kids Learning, Student Material, Stories, Tech Updates, Suvichar and Full Form in Hindi.

Contact us

Address- 17, Einsteinpalais, Friedrichstraße, Berlin Mitte, Berlin, Germany- 10117

hindienglishblog@gmail.com

Mon to Friday
9:00 am to 18:00 pm